सादर ब्लॉगस्ते पर आपका स्वागत है।

सावधान! पुलिस मंच पर है

Saturday, August 10, 2013

कवि सम्मेलन रहा सफल


नई दिल्ली: दिनाँक 07.08.2013 दिल्ली होम गार्डस आडिटोरिम में दिल्ली पुलिस व पीसमेकर पत्रिका के तत्त्वावधान में स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में कवि सम्मेलन आयोजित किया गया । इस कवि सम्मेलन के संयोजन की भूमिका निभाई हास्य कवि व कार्टूनिस्ट राजेंद्र कलकल एवं पीसमेकर पत्रिका के प्रबंध संपादक संतोष कुमार 'सरस' ने. वरिष्ठ कवि गजेन्द्र सोलंकी जी के संचालन में कवि सम्मेलन ने आरंभ से अंत तक श्रोताओं को बांधे रखा। इस अवसर पर आमंत्रित कवि व कवियित्री थे आदेश त्यागी, वेद प्रकाश वेद, बलजीत कौर तन्हा, सुमित प्रताप सिंह व चरणजीत चरण। दिल्ली होम गार्ड्स के महानिदेशक आदित्य आर्य के संबोधन से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ हुआ। सुमित प्रताप सिंह ने अपनी हास्य कविताओं से कवि सम्मेलन की शुरुआत की. उनकी कविता "अच्छा है बकरापन" श्रोताओं द्वारा विशेष रूप से सराही गई। वेद प्रकाश वेद ने अपनी हास्य कविताओं से सभी को खूब हँसाया। चरण जीत चरण के गीतों ने श्रोताओं का मनोरंजन किया। बलजीत कौर तन्हा ने अपनी सरदारों पर आधारित रचनाओं से वहाँ उपस्थित जनसमूह को गुदगुदाया। राजेंद्र कलकल की हास्य कविताओं ने भी श्रोताओं को खूब हँसाया. उनकी कविता "इमरजेंसी ड्यूटी" विशेष तौर पर सराही गई। आदेश त्यागी के देशभक्ति से परिपूर्ण मुक्तकों व शेरों ने जनता की वाहवाही लूटी। अंत में गजेंद्र सोलंकी की ओजपूर्ण रचनाओं ने वहाँ उपस्थित हर व्यक्ति के रक्त में उबाल ला दिया। निष्कर्षतः यह कवि सम्मेलन पूर्ण रूप से सफल रहा।