सादर ब्लॉगस्ते पर आपका स्वागत है।

सावधान! पुलिस मंच पर है

Thursday, February 2, 2017

मेरा नया व्यंग्य संग्रह 'सहिष्णुता की खोज'

 मित्रो इस विश्व पुस्तक मेले में मेरी पाँचवी पुस्तक व तीसरे व्यंग्य संग्रह 'सहिष्णुता की खोज' का विमोचन शोभना सम्मान समारोह व पहले ऐतिहासिक युवा व्यंग्य सम्मेलन में दो दिनों तक लगातार दो बार किया गया। मेरे इस व्यंग्य संग्रह में कुल 42 संग्रह संकलित हैं। इसे चिसलिंग पब्लिकेशन हाउस ने प्रकाशित किया है। इस प्रकाशन से प्रकाशित होनेवाली अन्य पुस्तकें क्रमशः हल्द्वानी, उत्तराखंड के चर्चित युवा व्यंग्यकार गौरव त्रिपाठी का हास्य व्यंग्य उपन्यास 'कपूत' तथा भुवनेश्वर, उड़ीसा की युवा लेखिका इति श्री राठौर का उपन्यास 'वो लड़की' है। यह प्रकाशन युवा लेखकों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से बनाया गया है। फ़िलहाल आप मेरी पुस्तक 'सहिष्णुता की खोज' को मँगवाकर और इसे पढ़कर अपनी राय देना मत भूलिएगा।