सादर ब्लॉगस्ते पर आपका स्वागत है।

सावधान! पुलिस मंच पर है

Sunday, October 12, 2014

स्वार्थ (लघु कथा)

   हुक्के का कश खींचते असलम चाचा से रामू ने पूछा, “चाचा इस बार मुख्यमंत्री किसे बनना चाहिए?”
असलम चाचा ने मुंह से धुआँ निकालते हुए कहा, “ बेटा अबकी बार वर्तमान मुख्यमंत्री ही  फिर से सत्ता में आना चाहिए
चाचा ईमानदारी से बताओ कि अब वाला मुख्यमंत्री ठीक है या फिर पिछले वाला?” रामू ने असलम चाचा पर फिर से सवाल दाग दिया
असलम चाचा ने एक लंबा सा कश खींचा और रामू से बोले, “बेटा हकीकत में देखा जाए तो पिछला मुख्यमंत्री लायक था और उसके राज में प्रदेश में गुंडा-गर्दी भी खत्म हो गई थी, लेकिन वर्तमान मुख्यमंत्री के राज में अपना कोई काम नहीं रुकता है वैसे भी अच्छे या बुरे से हमें क्या लेना हमारे लिए तो वही अच्छा मुख्यमंत्री है, जो हमारा स्वार्थ सिद्ध करे इसलिए वर्तमान मुख्यमंत्री फिर से सत्ता में आना ही चाहिए”   

सुमित प्रताप सिंह 
इटावा, नई दिल्ली, भारत