सादर ब्लॉगस्ते पर आपका स्वागत है।

सावधान! पुलिस मंच पर है

Monday, May 14, 2012

हिंदी चिट्ठाकारी को मजबूत करने में योगदान करें


http://www.facebook.com/avinashvachaspati


बहुत आसान है वोट करना ......
नीचे दिए गए लिंक में दिए गए प्रपत्र मे दो प्रश्न है एक है दशक का ब्लॉगर ? और दूसरा है दशक का ब्लॉग?
उसके नीचे विकल्प दिये गए हैं, हर नाम के पहले एक गोला है जिसमे आपको क्लिक करना है ....यदि उस विकल्प से आप सहमत नहीं हैं तो अंदर मे अपनी पसंद के किसी और ब्लॉग अथवा ब्लॉगर का नाम अंकित करते हुये सबसे नीचे सबमिट का बटन बना है उसपर क्लिक कर दें ....हो गया आपका वोट पूर्ण । - रवीन्‍द्र प्रभात
http://www.parikalpnaa.com/2012/05/blog-post_354.html

परिकल्‍पना सम्‍मान के लिए अपने प्‍यारे हिंदी ब्‍लॉगर को वोट दें, पेश की गई सूची में उनका नाम शामिल न हो तो आप other में नाम लिखकर शामिल कर सकते हैं। आपका कदम क्रांतिकारी सिद्ध होगा। भारी संख्‍या में वोट कीजिएगा। यह एक ऐसा अवसर है कि हम सबको मन के भेद भाव भुलाकर अपनी एकजुटता और  सच्‍ची लगन को साबित करना है। 

आप यह भी जान लीजिए कि आप वोट देकर किसी पर अहसान नहीं करेंगे बल्कि अभिव्‍यक्ति की इस नई विधा के उन्‍नयन में सहभागी बनेंगे। इस विधा में ऐसे कार्य होने चाहिएं कि वह सबके लिए मिसाल बन जाएं। इस विधा पर भरपूर साहित्‍य का निर्माण करना है। हिंदी ब्‍लॉगिंग को शिक्षा के पाट्यक्रम में शामिल करवाना है। 

इन सबके लिए प्रयास शुरू हो चुके हैं। उन्‍हीं में से एक क्रांतिकारी कदम 'परिकल्‍पना सम्‍मान' भी हैं जो इस विधा को अंतर्जाल संसार में पुख्‍ता पहचान दिलाने की ओर अग्रसर हैं। इस विधा में पुस्‍तकों का प्रकाशन करना है। इस कार्य में भी सक्रियता दिखाई दे रही है। हिंदी ब्‍लॉगिंग पर तीन प्रामाणिक पुस्‍तकों का प्रकाशन हो चुका है और इसी वर्ष 5 पुस्‍तकें और प्रकाशित होने की भरपूर संभावना है। 

आप इस विधा के विकास में अपनी सलाह भी टिप्‍पणी में दीजिए। अपने ब्‍लॉगों पर प्रकाशित करके हमारे पास उनके लिंक भेजिए। लेकिन एक काम अवश्‍य कीजिए और वोट अवश्‍य दीजिए, इसमें लापरवाही आपको बाद में दुख देगी। अपने वोट के अधिकार को यूं व्‍यर्थ मत कीजिए। इसके लिए आपको कहीं लाईन में नहीं लगना है। कोई पहचान पत्र नहीं दिखलाना है। समय की पाबंदी अंतिम तिथि 30 मई 2012 है लेकिन तब तक आप किसी भी समय अपने वोट का प्रयोग कर सकते हैं। 

तो चूकिएगा मत। और यह भी मत सोचिएगा कि अभी तो 30 तारीख बहुत दूर है। फिर आप वोट नहीं डाल पाएंगे। आलस्‍य अच्‍छी से अच्‍छी चीजों को पूरा होने से पहले रोक देता है। आप अच्‍छे के साथ हैं तो सच्‍चे बनिए और तुरंत वोट कीजिए। अभी तो रुझान आए हैं, आप सक्रिय हुए तो परिणाम बेहतर आएंगे। 

एक बार फिर हिंदी चिट्ठाकारी (ब्‍लॉगिंग) के स्‍वर्णिम भविष्‍य की शुभकामना के साथ। 

आप इस पोस्‍ट का लिंक सबको भेजकर इस शुभ कार्य में सहभागी बनिए।